जिगरी दोस्त शायरी attitude

अच्छे दोस्त को रूठने पर, हमेशा मनाना चाहिए क्योंकि, वो कमीना हमारे सारे राज़ जानता होता है.

अपना तो कोई दोस्त नही है, सब साले कलेजे के टुकडे है.

दोस्ती हो तो चन्दन की तरह, हजार टुकड़े करदो पर सुगन्ध न जाए.

कौन कहता है की मुझ में कोई कमाल रखा है, मुझे तो बस कुछ दोस्तो ने संभाल रखा है.

तुम मेरे साथ हो, या ना हो पर तुम्हारी, यादें तो हमेशा इस दिल में, रहेंगी मेरे दोस्त.

कितनी छोटी सी दुनिया है मेरी, एक मै हूँ और एक दोस्ती तेरी.

कुछ दोस्त खज़ाने की तरह होते है, दिल करता है सालो को ज़मीन में गाड़ दूँ.

READ MORE