बहुत ही सैड शायरी boy

तेरे बैगैर तन्हाई में जीने की जब भी बात आयी खुदा कसम तेरी हर वो मुलाकात याद आयी..

गलतियां तो किसकी थी ये तो पता नही मगर अब उन रिश्तों मैं वो बात नही..

मोहब्बत में मिटने का हौसला भी रखते है मगर तुम ही हमे मिटा दोगे ये नही जानते थे..

हर किसी के बस की बात नही रिश्ता निभाना दिल दुखाना पड़ता है किसी और कि खुशी के लिये..

इस दुनिया मे लोगो को तो झूठे लोग ही पसंद आते है सच बोलो तो अपना ही रूठ जाते है…

मेरी खुशिया देख मेरे अपने जल गए, डर तो था परायों का , ना जाने कब अपनो को खल गए..

चहरे पर ये सुकून तो सिर्फ दिखाने के लिए है, वरना बेचैन तो हर कोई इस ज़माने मैं है…

READ MORE