शायरी लव रोमांटिक 2 Line Attitude

ज़रूरी तो नहीं कि शायरी सिर्फ़ आशिक़ ही करें, ज़िंदगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दे जाती है।

कोई कहता है मूरत में, कोई कहता है आसमान में रहता है, और मुझ जाहिल को लगता था, खुदा हर इंसान में रहता है।

हवा चुरा ले गई मेरी शायरी की किताब, देखो आसमां पढ़ के रो रहा है बेहिसाब आज।

मै तो चाहता हूं हमेशा मासूम बने रहना, ये जो दुनिया है समझदार किए जाती है।

समझ रहे हैं मगर बोलने का यारा नही जो हम से मिल के बिछड़ जाए वो हमारा नही

भर जायेंगे जख्म मेरे भी तुम जमाने से जिक्र मत करना, मै ठीक हूं तुम दुबारा कभी मेरी फिक्र मत करना।

कौन है जिसमे कमी नहीं होती, आसमान के पास भी तो जमीं नही होती..

READ MORE