हिंदी शायरी दो लाइन प्यार

❝ तुम मुझे छोड़ नहीं पाओगी मै तुम्हारी चाय बन जाऊंगा ❜❜

❝ समंदर न सही पर एक नदी तो होनी चाहिए तेरे शहर में ज़िन्दगी कही तो होनी चाहिए  ❜❜

❝ मुझे अच्छा लगता है तुझसे गुफ्तगू करना ऐसा लगता है कि लौट आया हो कोई अपना ❜❜

❝ सच्ची मोहब्बत कभी खत्म नहीं होती वक़्त के साथ खामोश हो जाती है ❜❜

❝ मैं तब भी तेरा रहूंगा जब मैं नहीं रहूँगा ❜❜

❝ शायद वो अपना वजूद छोड़ गया है मेरी हस्ती में यूँ सोते-सोते जाग जाना मेरी आदत पहले कभी न थी ❜❜

❝ मुझको चाहते होंगे और भी बहुत लोग मगर मुझे मोहब्बत सिर्फ अपनी मोहब्बत से है ❜❜

READ MORE