हिंदी शायरी दो लाइन attitude

सोने के जेवर और हमारे तेवर लोगों को बहुत महंगे पड़ते हैं।

कोई मुझसे जलता है तो ये भी मेरे लिए सफलता है।

माचिस तो यूँ ही बदनाम है हुजुर हमारे तेवर तो आज भी आग लगाते है !!

दुश्मनों से हमारी बात नही होती है, शेर के आगे कुत्तों की औकात नही होती है।

बेटा, माहौल का क्या है, साला जब चाहे तब बदल देंगे…!

तेरे जैसे कुत्ते सिर्फ भौंकते है हम शेर हैं, खुलेआम ठोंकते हैं।

हम आज भी अपने हुनर मे दम रखते है, छा जाते हैं रंग जब हम महफिल मे कदम रखते है.!

READ MORE