Best जिंदगी शायरी दो लाइन

जिंदगी का सफर भी कितना अजीब है, शामे कटती नहीं और साल गुज़रते चले जा रहे है!

ज़िन्दगी की हकीकत बस इतनी सी है, की इंसान पल भर में याद बन जाता है।

कितने ग़म, कितनी तड़प इसमें है, फिर भी लेकिन, जिन्दगी चीज ही ऐसी है, ना छोडी जाये।

जूझती रही, बिखरती रही, टूटती रही, कुछ इस तरह ज़िन्दगी, निखरती रही।

मेरी जिंदगी में खुशियां तेरी वजह से है, आधी तुझे सताने से है, आधी तुझे मनाने से है।

ज़िन्दगी सिर्फ साँसों का नाम नहीं है, इसलिए हर सांस लेने वाला जिंदा नहीं होता।

समंदर ना सही, पर एक नदी तो होनी चाहिए, आपके शहर में जीवन, कहीं तो होना चाहिए।

READ MORE