Heart touching shayari for teachers in hindi

गुरु बिना ज्ञान कहां उसके ज्ञान का आदि न अंत यहां गुरु ने दी शिक्षा जहां उठी शिष्टाचार की मूरत वहां ।

मैं क्या कहूं उनकी गाथा जो हैं भविष्य के निर्माता सबसे आदरणीय होता है ये गुरु शिष्य का नाता ।

कभी मां बनकर दुलार करते हैं तो कभी पिता के जैसे समझाते हैं हम भटक न जाए पथ से कभी गुरु हमे सही रास्ता दिखाते हैं ।

हम तो माटी हैं teacher जो चाहो तुम रूप दे दो अंधकार भरे इस जीवन में अपनी कृपा की धूप दे दो ।

Parents के बाद जिनका है स्थान,     हाथों में जिनके Future की कमान .     जो जमाये Parents की तरह हक ,     वो है हमारे Respected अध्यापक .

शिक्षा देना जिनका काम है,   जो कभी ना करे आराम है .   ये बातें है मेरे Teachers की ,   आज जिनको मेरा प्रणाम है .

हमारी ज़िन्दगी माता-पिता का दिया एक उपहार है मगर अध्यापक की शिक्षा के बिना ये उपहार भी बेकार है

READ MORE